Total Pageviews

Sunday, October 23, 2011

दीपावली शुभ हो !

अजब मिज़ाज-ए-बगावत है, हम चरागों में,
किसी के हुक्म पे चलना हमें कबूल नहीं
हवा के जुल्म से बुझना कबूल है हमको ,
हवा के हुक्म से जलना हमें कबूल नही.

No comments: